अपने भाई की लाश के साथ बिस्तर पर 7 दिन तक रही बहन, दरवाजा खोलते ही पड़ोसियों के उड़ गए होश

189
New Delhi : महानगर कोलकाता में एक सनसनीखेज घटना सामने आई है, जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

24 परगना जिले के नैहाटी इलाके में एक बहन अपने भाई की लाश लेकर एक सप्ताह तक बंद कमरे में बैठी रही। महिला ने इस बात की जानकारी ना ही अपने पड़ोसियों को दी और ना ही अपने रिश्तेदारों को दी।

पुलिस ने महिला की पहचान सार्बनी पाल के रूप में की है   जबकि उसके मृत भाई का नाम अमरनाथ पाल  है। नैहाटी थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर एक के बड़दा इलाके में मंगलवार को एक मकान के कमरे से दुर्गंध आने लगी। स्थानीय लोगों की सूचना के बाद जब पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़ा तो देखा कि महिला सार्बनी अपने मृत भाई अमरनाथ की लाश के पास पिछले सात दिनों से बैठी हुई थी।

अनुमान लगाया जा रहा है कि सार्बनी मानसिकतौर पर स्थिर नहीं है, जिससे वह अपनी भाई की मौत की खबर किसी को दे नहीं सकी। जहां महिला सार्बनी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है वहीं पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए भेज दिया है, जिससे मौत की असली वजह का पता लगाया जा सके।

गौरतलब है कि पिछले सात दिनों से सार्बनी को किसी ने घर से बाहर निकलते नहीं देखा था। घर का दरवाजा हमेशा बंद रहता था, 7 दिनों बाद इस मकान से दुर्गंध बाहर आने लगी तो स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचित किया।

बताया जा रहा है कि अपने बड़े भाई काशीनाथ की मौत के बाद शर्बना छोटे भाई अमरनाथ के साथ रह रही थी। अमरनाथ ए​क किराने की दुकान चलाता था। कुछ दिनों से उसकी तबियत खराब थी, जिससे वह दुकान पर नहीं जा पा रहा था। कुछ ऐसी ही घटना साल 2015 में घटी थी जिसे रॉबिंसन कांड का नाम दिया गया। पार्थ दे नामक इंजियरन अपनी मृत बहन की डेड बॉडी के साथ 6 महीने तक बंद कमरे में बैठा रहा।